Monday, February 6, 2023
HomeNewsGupt Navratri 2023: गुप्त नवरात्रि आज से शुरू - जानिए शुभ मुहूर्त...

Gupt Navratri 2023: गुप्त नवरात्रि आज से शुरू – जानिए शुभ मुहूर्त और योग

Gupt Navratri 2023: गुप्त नवरात्री आज से शुरू हो गई है। इन नौ दिनों में भवानी माँ दुर्गा के नौ स्वरूपों की पूजा की जाती है। चलिए आपको बताते है की इन नौ दिनों में शुभ मुहूर्त और योग क्या रहेंगे।

Gupt Navratri 2023: Gupt Navratri starts from today - know auspicious time and yoga
Gupt Navratri 2023: Gupt Navratri starts from today – know auspicious time and yoga

अभी माघ का महीना चल रहा है और गुप्त नवरात्री आज रविवार से शुरू हो चके है। ये गुप्त नवरात्रे 30 जनवरी तक चलेंगे। आपको बता दें की चार बार नवरात्रे होते है जिनमे से दो गुप्त होते है और दो नवरात्रे अगुप्त होते हैं। माना जाता है की गुप्त नवरात्रे में जो भी भक्त माँ की पूजा अर्चना करते है तो मां उन भक्तों की साडी मुरादें पूरी करती है। इस साल में गुप्त नवरात्रों का महत्व ज्यादा माना जाता है क्योंकि ये गुप्त नवरात्रे सिद्ध योग से शुरू हो रहे है।

माघ मास गुप्त नवरात्रि के शुभ योग – MAGH MAS GUPT NAVRATRI KE SHUBH YOG

भारतीय वैदिक पंचांग के अनुसार गुप्त नवरात्री के शुभ योग – 22 जनवरी 2023 को गुप्त नवरात्री में महा सिद्ध योग बनने जा रहा है ऐसे में सभी भक्त घ्यान रखे की मां दुर्गा के चरणों में दूब और तुलसी बिलकुल ना चढ़ायें। इस दौरान भक्तजन रोजाना सात्विक भोजन को आहार में लें।

22 जनवरी 2023 को प्रतिपदा तिथि 2 बजकर २२ मिनट से शुरू होती है और 10 बजकर 27 मिनट पर प्रतिपदा तिथि ख़त्म होती है। पूजा का समय सुबह 10 बजकर 06 मिनट से शुरू हो गया है लेकिन ये अगले दिन सुबह 05:40 तक रहेगा। आपको बता दें की गुप्त योग में पूजा का फल दोगुना मिलता है।

माघ मास गुप्त नवरात्रि में पूजा करने की विधि – MAGH MAS NAVRATRI ME POOJA KARNE KI VIDHI

माघ मास की गुप्त नवरात्री आज से शुरू हो गई है और ऐसे में भक्तजन रोजाना माता की पूजा करनेवालेहैं । चलिए जानते है की गुप्त नवरात्री में माँ की पूजा कैसे करें?

Also Read This: आज इन तीन राशियों का भाग्य खुलेगा। होगी धन वर्ष

सबसे पहले माता की पूजा करने के लिये कलश की स्थापना करनी होती है। रोजाना सुबह और शाम को पूजा दुर्गा चालीसा का पाठ जरूर करें। पूजा के समय माता को लौंग और बतासे चढाने चाहिये और साथ में माँ के चरणों में कमल के फूल चढाने चाहिये। सभी भक्तजन इस बात का ध्यान रखें की रोजाना माता को श्रृंगार सामग्री जरूर चढाने है। गुप्त नवरात्री में रोजाना बेड पर ना सोकर जमीन पर सोना चाहिये। साथ में रोजाना ब्रह्मचर्य व्रत का पालन भी जरूर करें।

तारीख नवरात्रि की तिथि माता स्वरूप की पूजा
22 जनवरी 2023 प्रतिपदा तिथि मां शैलपुत्री
23 जनवरी 2023 द्वितीया तिथि मां ब्रह्मचारिणी
24 जनवरी 2023 तृतीया तिथि मां चंद्रघंटा
25 जनवरी 2023 चतुर्थी तिथि मां कुष्मांडा
26 जनवरी 2023 पंचमी तिथि मां स्कंदमाता
27 जनवरी 2023 षष्ठी तिथि मां कात्यायनी
28 जनवरी 2023 सप्तमी तिथि मां कालरात्रि
29 जनवरी 2023 अष्टमी तिथि मां महागौरी
30 जनवरी 2023 नवमी तिथि मां सिद्धिदात्री
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments