139 गेंदों पर 169 पर थे शुभमन गिल।

ऐसा लग रहा था की शायद बहुत देर हो जाएगी क्योंकि बहुत ज्यादा ओवर बचे नहीं थे।

43 से लेकर 47 ओवर तक इंडियन पारी में कोई भी बाउंड्री नहीं लगा पाए थे।

इस वजह से ऐसा लग रहा था कि शुभमन गिल का सपना शायद आज अधूरा रह जाएगा।

दो सौ नहीं बना पाएंगे लेकिन उसके बाद एक हुआ चमत्कार।

137 गेंदों पर 169 रन हैं। यानी की कुछ एक सौ बीस तीस का स्ट्राइक चल रहा है।

उसके बाद अगली ग्यारह गेंदों पर उन्होंने 350 के स्ट्राइक रेट से चौके छक्के लगाने शुरू कर दिए।

सोचिये 137 गेंदों तक आप 120 – 130 के स्ट्राइक रेट से खेल रहे हैं। अचानक माता आ गयी और

उन्होंने फिर जो चौके छक्के लगाये। क्या कमाल के थे। पूरी खबर पढ़ने के लिए निचे क्लिक करके आर्टिकल पर जायें।